RSS Feed

Stoning of the Devil

 

जुमारत के तिन स्तम्भ :
मक्का शरीफ के काबा शरीफ स्थित काले पथ्थर के उपर सिर्फ भारत के ही नहीं बल्कि योरोप के भी कई वेबसाइटस नित नई नई झुठी कहानियों को गढ़ते रहते हैं , और कई लोग इन बातो को यकीन कर उनका प्रसार भी करते रहते हैं , आप इनको जिब्रईल फरिस्ते और हजरत इब्राहीम की कितनी भी कहानी सुनाओ , बिल्कुल बिस्वास नहीं करते । पर यही लोग और वेबसाईटस मक्का शरीफ मैं ही पाए गए तिन स्तम्भ या जुमारतो कि कहानी पर बिल्कुल चुप रहते हैं । जुमारत के तिन स्तम्भो पर दुनिया भर से आए मुसलमान हाजि नफरत और गुस्से के साथ पथ्थर कंकर बरसाते हैं । अब मेरा सवाल काबा के काले पथ्थर पर इस्लाम कि स्टोरी न मानने वालों से हैं कि अगर आप सही हो तो जुमारत और उसकी पथराव रस्म से जुड़ी ” असली ” कहानी हमारे सामने ले कर आए । हजरत इब्राहीम कि स्टोरी नहीं चलेगी , क्यों की उसपर तो आप विश्वास ही नहीं करते !!

Note :- किसी को जुमारत की असली स्टोरी जाननी हो तो यहां जाएhttp://en.m.wikipedia.org/wiki/Stoning_of_the_Devil

Gromit’s Kaaba Mecca Sharif Sharif located 2 column: black is not just at the top of India’s own paththar Europe too many websites are the new new jhuthi nit stories gadhte, and many people also make sure their spread these bato live, you phariste them, gabriel and Hazrat Abraham do not absolutely any story sunao, Biswas. But that’s what people and websites I found Mecca Sharif 2 column or jumarto that are absolutely live up on the story. Gromit have come from Muslims around the world on 2 stambho of haji barsate paththar kankar with hatred and anger are. Now my question on Islam the Kaaba’s black paththar refusing from that story that if you’re right then gromit and his pathrav ritual of taking the “real” story came before us. Hazrat Ibrahim that story will not, why don’t you believe it!!

Note:-the real story of someone to be here janni gromithttp://en.m.wikipedia.org/wiki/Stoning_of_the_Devil (Translated by Bing)

जुमारत के तिन स्तम्भ : 
मक्का शरीफ के काबा शरीफ स्थित काले पथ्थर के उपर सिर्फ भारत के ही नहीं बल्कि योरोप के भी कई वेबसाइटस नित नई नई झुठी कहानियों को गढ़ते रहते हैं , और कई लोग इन बातो को यकीन कर उनका प्रसार भी करते रहते हैं , आप इनको जिब्रईल फरिस्ते और हजरत इब्राहीम की कितनी भी कहानी सुनाओ , बिल्कुल बिस्वास नहीं करते । पर यही लोग और वेबसाईटस मक्का शरीफ मैं ही पाए गए तिन स्तम्भ या जुमारतो कि कहानी पर बिल्कुल चुप रहते हैं । जुमारत के तिन स्तम्भो पर दुनिया भर से आए मुसलमान हाजि नफरत और गुस्से के साथ पथ्थर कंकर बरसाते हैं । अब मेरा सवाल काबा के काले पथ्थर पर इस्लाम कि स्टोरी न मानने वालों से हैं कि अगर आप सही हो तो जुमारत और उसकी पथराव रस्म से जुड़ी " असली " कहानी हमारे सामने ले कर आए । हजरत इब्राहीम कि स्टोरी नहीं चलेगी , क्यों की उसपर तो आप विश्वास ही नहीं करते !! 

Note :- किसी को जुमारत की असली स्टोरी जाननी हो तो यहां जाए http://en.m.wikipedia.org/wiki/Stoning_of_the_Devil
Advertisements

About sogoodislam

The concept of Islam is only-La ila ha illal la hu Muhamadur Rasulullah.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: